क्या है 5G टेक्नोलॉजी और ये हमारी ज़िन्दगी किस प्रकार बदल देगी ?

आज के आधुनिक और टेक्निकल जमाने में इंटरनेट ने लोगो के रहन-सहन को पूरी तरह से बदल के रख दिया है। आज हम अपने जरूरत की हर चीज़ को इंटरनेट पर बड़ी ही आसानी से खोज सकते है। इंटरनेट की सहायता से हम अपनी कल्पनाओ को कंप्यूटर स्क्रीन पर बड़ी ही आसानी से उकेर सकते है। वो ज़माना बीत गया जब हमें कुछ भी लिखने, पढ़ने या ड्राइंग बनाने के लिए कागज़ और कलम की जरूरत होती थी। आज हमारे पास कीबोर्ड है जिस पर सब कुछ टाइप करके बड़ी ही आसानी से कुछ भी लिखा जा सकता है। इंटरनेट की खोज ने सूचना माध्यमों में क्रांति लाने का काम किया है। पहले के जमाने में हमारे पास इतने तेज़ सूचना के साधन उपलब्ध नहीं थे कोई भी सन्देश भेजने के लिए कई कई दिनों तक इंतज़ार करना पड़ता था लेकिन आज बस कंप्यूटर की एक क्लिक पर ही किसी भी सन्देश को बड़ी ही आसानी से एक स्थान से दूसरे स्थान पर कुछ ही सेकण्ड्स में भेज सकते है। शुरुआत में जब इंटरनेट आया था उस समय के इंटरनेट और आज के इंटरनेट में ज़मीन आसमान का फर्क है। उस समय इंटरनेट आज के मुकाबले बहुत स्लो चलता था लेकिन फिर भी वो एक शुरुआत के लिहाज से बहुत बेहतर था। आज हम जिस इंटरनेट से परिचित है वो बहुत उतार-चढ़ाव के बाद हम तक इस रूप में पंहुचा है और अभी भी इसमें सुधार हो ही रहे है।

इंटरनेट के पुराने स्वरुप की विस्तार से चर्चा की जाए तो हम पाते है की इंटरनेट का पुराना दौर बहुत ही पेचीदगियों से भरा था उस दौर में हमें न तो इंटरनेट में आज की तरह तेजी मिलती थी और न ही हम इंटरनेट से दूसरे तरह के काम कर सकते थे। वो महज कॉलिंग के काम आता था वो आज के मुकाबले कम voice quality का होता था, लेकिन आज के दौर में इंटरनेट पर बहुत सारी चीज़े की जा सकती है जैसे हम ऑनलाइन गेम्स खेल सकते है, ऑनलाइन फिल्मे और न्यूज़ देख सकते है, वीडियो कॉल के माध्यम से अपने परिचितों से बात कर सकते है आदि काम हम बड़ी ही आसानी से आज के 4G तकनीक से कर सकते है। लेकिन 4G में भी कुछ बाध्यताएं Limitations है, अब इस तकनीक में और सुधार करके 5G की तरफ दुनिया कदम बढ़ा रही है है। 5G एक ऐसी तकनीक होगी जो सबसे एडवांस होने के साथ मानव जीवन के तौर-तरीके और रहन-सहन को पूरी तरीके से बदल के रख देगी। आज हम आपको इस आर्टिकल में 5G तकनीक के बारे में बताने वाले है और साथ ही ये भी बताएँगे की किस प्रकार से 5G हमारे आने वाले कल को पूरी तरह से बदल के रख देगा।

5G तकनीक क्या है ? What is 5G technology ?

5G सेलुलर नेटवर्क की अगली प्रणाली है जो की 4G से कई गुना तेज होने वाली है। 5G में ‘G’ का मतलब होता है ‘Generation’ अर्थात जब उस पीड़ी की एक उन्नत तकनीक का विकास कर लिया जाता है या उसी तकनीक में सुधार करके सबके सामने प्रस्तुतु किया जाता है तो उसे generation कहा जाता है। 5G आने वाले समय में लोगो और businesses के काम करने के तरीको में पूरी तरह से बदलाव कर देगा। अबतक 4G से जैसे काम होते हुए हमें नज़र आते थे अब 5G के आ जाने के बाद हमें वो वैसे नज़र नहीं आएंगे। तेज कनेक्टिविटी Faster connectivity, अल्ट्रा-लो लेटेंसी ultra-low latency और अधिक बैंडविड्थ greater bandwidth ये सब हमारे इस समाज के सूचना के साधनो में तेजी से बदलाव करने के साथ ही साथ हमारे उद्योगों और हमारी आम जिंदगी को बड़े ही व्यापक ढंग से बदल रहे है। 5G से ये अपेक्षा की जा रही है की ये हमें एक स्मार्ट, सुरक्षित और अधिक टिकाऊ भविष्य की तरफ ले कर के जायेगा। 5G के आने से लोगों, व्यवसायों और समाज के लिए अवसरों में बढ़ोतरी होगी।

5G के आने से क्या-क्या बदलाव नज़र आएंगे ?

1. बेहतर डेटा कनेक्शन और सिग्नल – Improved data Connection and Signal

5G के आने से जो सबसे बड़ा सुधार देखने को मिलेगा वो है, बेहतर इंटरनेट कनेक्शन और सिग्नलिंग सिस्टम से सम्बंधित है। आज जितनी तेज गति में इंटरनेट हम चला पाते है आने वाले समय में उस से भी कई गुना तेज इंटरनेट access कर पाएंगे। जहाँ 4G में लगभग 200 megabits/second की स्पीड देखने को मिलती है वही, 5G में लगभग 1gigabits/second की बहुत तेज स्पीड देखने को मिलेगी। इसके साथ ही Low latency जो की 4G में 100 milliseconds response time होता है वही 5G में 1 millisecond’s response time होगा। इसको अगर सरल भाषा में समझाए तो low latency का मतलब होता है, की इंटरनेट पर कुछ भी खुलने में कितना समय लग रहा है। जो की 4G में लगभग 100 milliseconds response time और  5G में लगभग 1 millisecond’s response time है। Low latency का सम्बन्ध  उस बिलम्ब से है जो की data की transmitting या processing करने के दौरान सामने आती है।

2. फास्ट डाउनलोड – Fast Download

5G में जहाँ लगभग 1 gigabits/second की सुपरफास्ट स्पीड देखने को मिलेगी वही बात की जाये 4G या उसके पुराने जनरेशन की तो इतनी तेज स्पीड उसमे देखने को नहीं मिलती थी। अभी 4G की जो स्पीड देखने को मिलती है वो है लगभग 200 megabits/second की। और उसे पहले के जनरेशन में बहुत ही स्लो स्पीड देखने को मिलती थी। अगर बात की जाये 1G की तो उसमे हमें सिर्फ कॉल करने की सुविधा मिलती थी और वो भी बहुत ही लौ क्वालिटी और बहुत delay के बाद, वही बात की जाये 2G की तो उसमे हमें कॉल, मैसेज के साथ ही साथ स्लो गति में इंटरनेट चलाने की सुविधा मिलती थी लेकिन ये भी आज के मुकाबले बहुत ज्यादा स्लो होता था। साथ ही उस समय मोबाइल प्लान्स बहुत महंगे होने के कारण इनका उपयोग बहुत ही सीमित था। इसके बाद जो अगली जनरेशन आई वो थी 3G की जिसमे हमें कॉल, मैसेज के साथ – साथ इंटरनेट चलने की भी सुविधा मिली लेकिन इसमें समस्या ये थी की इसमें अक्सर ऑनलाइन videos बहुत ज्यादा buffer करते थे। और साथ ही बहुत कम लोगो तक इसकी पहुँच थी जिसका मुख्य कारण high data charges था। इसके बाद एंट्री होती है 4G की जिसमे तेज इंटरनेट के साथ ही डाउनलोडिंग स्पीड भी ठीक-ठाक है इसके अलावा ऑनलाइन वीडियो देखने में भी कोई खास समस्या नहीं होती है।

अब जो 5G technology आने वाला है उसमे सुपरफास्ट इंटरनेट स्पीड तो होगी ही साथ ही डाउनलोडिंग 4G से भी तेज होने वाली है । 5G technology न केवल अच्छी स्पीड देगा बल्कि इसके साथ ही artificial inteliigence के साथ मिलकर काम करेगा और लोगो के जीवन को और सुविधाजनक बनाएगा। इसमें ऐसी technology का इस्तेमाल किया जा रहा है जिस से आप अपने gadgets से न केवल बहुत ही efficiently काम ले सकते बल्कि उसको अपने इशारो पर भी नचवा सकते है।

3. टक्कर से बचने के लिए आपस में बात करेंगी कारें – Cars will talk with each other to avoid collision

5G तकनीक एक बहुत ही उन्नत तकनीक होने वाली है जहाँ आपको अपने कार, गैजेट, इलेक्ट्रॉनिक एप्लायंस से कम्यूनिकेट करने का मौका मिलेगा वो आपके इशारो पर काम करेंगे और आपके एक डायरेक्शन पर आपके सारे काम फटाफट कर देंगे। खबरों की माने तो 5G तकनीक से लैस कारे आपस में टक्कर को बचाने के लिए एक दूसरे से बात करेंगे। मतलब उनमे कुछ ख़ास सेंसर होंगे जिनको 5G से पावर मिल रही होगी और वो किसी भी प्रकार की अनहोनी को होने से रोकेंगे। इसके अलावा भी 5G से managed दूसरे डिवाइस भी अपने आप में ही बहुत स्मार्ट होंगे जहाँ आपको बस उन्हें निर्देश देना है जैसे आप अगर बाहर कहीं पर अपने घर से बहुत दूर है, तो आप सिर्फ रिमोट control के माध्यम से अपने घर की लाइट, दरवाजे या एसी को बंद कर सकते है, अब आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है आपने घर को लॉक किया की नहीं, दरवाजे सुरक्षित रूप से बंद है या नहीं बस आप अपने सिस्टम में देखिये और अपने फ़ोन से निर्देश दीजिये और बाकी सब काम जादू की तरह हो जायेगा।

4. रियल टाइम में आभासी वास्तविकता का बोध – Realization of virtual reality in real time

Virtual Reality

रियल टाइम में आभासी वास्तविकता का अर्थ है की जो चीज़े हमें आभासी virtual रूप में नज़र आती उन्हें हम ठीक उसी समय होता हुआ देख सकते है, तेज गति के इंटरनेट के कारण। इसको ऐसे समझिये जैसे अभी हम किसी को वीडियो कॉल करते है तो अक्सर ख़राब नेटवर्क के कारण वीडियो और ऑडियो क्वालिटी ख़राब हो जाती है जिस कारण से बात करते समय बहुत दिक्कत का सामना करना पड़ता है। अब 5G में ऐसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। आप बस अपने स्मार्ट glasses के माध्यम से किसी से भी बात कर पाएंगे और ये सब कुछ रियल टाइम में होगा मतलब आपको buffering की चिंता करने की जरूरत नहीं है।

5. ड्रोन नियंत्रण – Drone Control

ड्रोन कण्ट्रोल आने वाले समय की एक वास्तविकता साबित होने वाला है जहाँ हर प्रकार की गतिविधि की जानकारी लेने के लिए ड्रोन्स का इस्तेमाल किया जायेगा। ट्रैफिक सिग्नल, सामानो की डिलीवरी या surveillance आदि सभी कामो के लिए ड्रोन्स का उपयोग भी 5G के माध्यम से संभव है। आने वाली दुनिया अभी के मुकाबले बहुत अलग होने वाली जहाँ हम एक वर्चुअल रियलिटी में जियेंगे। जो होगा तो आभासी लेकिन उसी को सच समझा जायेगा।

5G सुरक्षा और स्वास्थ्य सम्बंधित प्रश्न – 5G technology Safety and Health question

अब एक तरफ जहाँ 5G से सम्बंधित बहुत सारे फायदे गिनवाए जा रहे है वही कुछ लोग ऐसे भी जिनका मानना है की इस टेक्नोलॉजी के आ जाने से समाज पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ेगा। इस टेक्नोलॉजी पर सवाल उठाने वालो का मानना है की इस से बहुत बड़े पैमाने पर रेडिएशन निकलेगा जिस कारण से लोगो के हेल्थ पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ेगा और लोगो में अलग अलग तरह की बीमारिया होने का खतरा बढ़ जायेगा।  इसका विरोध करने वालो का मानना है की इसको उपयोग में लाने से पहले आवश्यक जांच पड़ताल करना बहुत आवश्यक है। जबतक 5G से जुड़े हर पहलु को परख न लिया जाये तब तक इस टेक्नोलॉजी पर गहन विचार करते रहना चाहिए और इसपर एक व्यापक रिसर्च करने के बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचना चाहिए। वहीं 5G का सपोर्ट करने वाले विशेषज्ञों का कहना है कि 5G से किसी भी तरह का खतरा नहीं है। इस technology में ऐसा कुछ नहीं जिस से घबराया जाए। उनका मानना है की 5G नेटवर्क भारत के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है ताकि भारत की टेलीकॉम कम्पनिया कंस्यूमर डिमांड के साथ साथ इंडस्ट्रीज के लिए भी काम कर सके।

आज के मॉडर्न वर्ल्ड में ये कहना उचित होगा की 5G जैसी आधुनिक तकनीक की भारत को जरूरत है ताकि वो लोगो के साथ साथ इंडस्ट्रीज  की भी डिमांड्स को भी पूरा कर सके जो 5G के द्वारा संभव है । इसी के सम्बन्ध में टेलीकॉम कम्पनिया काम कर रही है और बहुत जल्द लोग 5G technology को इस्तेमाल करते हुए मिल जायेंगे। आने वाले समय में सब कुछ वर्चुअल होने के बाद हमारे पास केवल चीज़ो को मॉनिटर करने का काम रह जायेगा क्यूंकि हमारे सारे तो हमारे स्मार्ट डिवाइस ही कर देंगे। 5G टेक्नोलॉजी के आ जाने से हमारे जीवन पर जो तात्कालिक प्रभाव पड़ेगा वो है हमारे काम करने के ढंग मे, जहाँ जिस तरह से हम पहले जीवन जीते थे और काम करते थे उसमे बहुत अधिक परिवर्तन आ जायेगा। हम अपने चाहने वालो से ही बहुत ही मजेदार और interactive way में संवाद कर पाएंगे, तो फिर इंतज़ार कीजिये कुछ और समय का हम एक बिल्कुल ही नयी दुनिया में प्रवेश करने वाले है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.