OTT Platform किस तरह भारत में लोगो के सिनेमा देखने का नजरिया बदल रहा है

आज के बदलते दौर में जिस प्रकार से रहने-सहने, काम करने, पढाई-लिखाई करने आदि, के तौर-तरीको में बदलाव देखने को मिल रहा है। उस से एक बात जाहिर है की आने वाला भविष्य आज के मुक़ाबला बहुत अलग रहने वाला है। अब अगर इतना सब कुछ इतनी तेजी से बदल रहा है तो फिर सवाल उठता है की, क्या सिनेमा देखने का नजरिया भी वही रहेगा या उसमे भी बदलाव देखने को मिलेंगे? तो इस सवाल का जवाब है, बिल्कुल हाँ, आज आप जिस तरह से सिनेमा और अन्य वीडियो देख, अपना मनोरंजन करते है, उसमे पहले के मुकाबला बहुत बदलाव आ गया है। पुराने समय की बात की जाए तो उस समय सिनेमा देखने के लिए आपको बहुत मेहनत करनी पड़ती थी। जैसे आपको सिनेमा देखने का मन करता था तो आपको थीऐटर जाना होता था और उसमे  भी आपको टिकट मिलेगी या नहीं इसकी कोई गारंटी नहीं होती थी। फिर दौर आया टीवी का जहाँ पर आपको सिनेमा के साथ साथ न्यूज़ चैनल्स और अन्य म्यूजिक चैनल्स का भी लाभ उठा सकते थे लेकिन इसमें भी एक दिक्कत थी की आप वही चीज़े देख सकते थे जिसे चैनल दिखाना चाहता था। आपका उस पर कोई कण्ट्रोल नहीं होता था। फिर ज़माना आया CD / DVD’s  का जहाँ पर आप अपना मनपसंद फिल्म जब चाहे तब देख सकते थे। लेकिन इसमें भी एक समस्या थी इसमें आपको lack of mobility in OTT या गतिशीलता नहीं मिलती थी मतलब आप केवल एक स्थान पर बैठ कर सिनेमा का आनंद ले सकते थे। इसमें कोई संदेह नहीं की हर दौर में जो भी टेक्नोलॉजी आती है, वो उस दौर की सर्वश्रेष्ठ टेक्नोलॉजी होती है जिसमे समय-समय पर सुधार होते रहते है।

आज की बात की जाए तो इंटरनेट ने घर-घर में धूम मचा रखी है। आज के समय में हर कोई इंटरनेट से जुड़ा हुआ है, और इंटरनेट की पहुंच गरीब और अनपढ़ लोगो तक भी हो गयी है। आज अनपढ़ से अनपढ़ और देश के दूर-दराज के क्षेत्रों में रहना वाला व्यक्ति भी इंटरनेट की सुविधा से परिचित है। ये सब कमाल है इस करामाती और जादूई इंटरनेट का, जिसने लोगो के जीवन को पूरी तरह से बदल दिया है। एक ख़ास बात जो भारत के लोगो में देखने को मिलती है वो सिनेमा के प्रति लगाव। भारत में बहुत अधिक संख्या में फिल्मे बनती है और उसी अनुपात में देखी भी जाती है। ऐसे में जब इंटरनेट सब जगह धूम मचा रहा हो तो वो सिनेमा को लिए बिना कैसे छोड़ सकता है।

OTT Platform ने मनोरंजन के साधन के रूप में एक बेमिसाल काम किया है। इसने लोगो के टीवी देखने के नज़रिये को पूरी तरह से बदल दिया है। आप आज जो चीज़ चाहे अपने फ़ोन में बस एक टैप पर देख सकते है इसने लोगो की सुविधाओं में बहुत वृद्धि कर दी है। OTT Platform पर आप उन चीज़ो का भी लाभ उठा सकते है जिनको आप सामान्य TV पर नहीं देख सकते। OTT Platform ने लोगो के दिलो पर बहुत ही कम समय में अपनी एक ख़ास जगह बना ली है। आज हम आपको OTT की फुलफॉम सहित OTT Platform के बारे में विस्तृत जानकारी देंगे।

Table of Contents

ओटीटी का फुल फॉर्म क्या है ? (OTT Full Form In Hindi)

यहां हम जानेंगे की OTT का Full Form क्या होता है। OTT का फुलफॉर्म ‘Over The Top’ होता है। इसका मतलब होता है की आप एक OTT platform के माध्यम से अपना मनोरंजन कभी भी और कहीं भी कर सकते है, बस उसके लिए आपको कुछ भुगतान (फ्री के केस में बिना शुल्क दिए) करना होगा, और फिर आप किसी भी Content का लुत्फ़ उठा सकते है।

OTT Platform क्या है ? पूरी जानकारी हिंदी में – What is OTT Platform? OTT Full information in Hindi

OTT Platform एक ऐसा साधन है जिसके द्वारा आप जब चाहे तब अपनी पसंद (video on demand) के content को देखकर अपना मनोरंजन कहीं भी और कभी भी कर सकते है। इसमें आपको सुविधा मिलती है की आप अपने मनपसंद की कोई भी video या movie को OTT platform को कुछ शुल्क (subscription) अदा करके देख सकते है। लेकिन जरूरी नहीं है की आप subscription ले कर ही कोई content देखे, बहुत बार OTT app आपको कुछ content ad के साथ फ्री देखने की भी सुविधा देता है। आज के समय में बाजार में ऐसे बहुत सारी mobile app और software है जो ये OTT की सुविधा प्रदान करते है। मूल रूप से OTT का content mobile app पर दिखाया जाता है जिसके लिए बाजार में अलग अलग कम्पनिया मौजूद है। इसमें आप अपने कंटेंट को देख सकते है।

आज के समय में OTT Platform का उपयोग सबसे ज्यादा वेब सीरीज, फिल्में आदि को देखने के लिए किया जाता है। ऐसे समय में जब लॉकडाउन के कारण सारे सिनेमा हॉल बंद रहे, तब ये OTT Platform लोगो को सुविधा मुहैया करा रहे है की वो अपना सिनेमा घर अपने मोबाइल को ही बना सकते है। पिछले कुछ समय में OTT Platform की लोकप्रियता को देखते हुए, यहां पर बहुत सारी फिल्में रिलीज़ हुई है, जिनको दर्शको ने खूब सराहा भी है। ऐसे बहुत सारे मशहूर apps है जो OTT की सुविधा दर्शको को मुहैया करा रहे है। OTT Platform का बाजार जिस तेजी से बढ़ रहा है उसको देखकर लगता है की आने वाले समय में OTT Platform पूरे मनोरंजन मार्किट पर छा जायेंगे।

इसके साथ ही अगर OTT Platform के बारे में थोड़ा अधिक विस्तार से बताये तो इसने पारम्परिक सिनेमा (traditional films) को देखने और उसकी मार्केटिंग करने के तरीको में बहुत बदलाव कर दिया है। जहाँ आज कोई भी content ऑनलाइन उपलब्ध है, जो की बिना किसी मध्यस्त के OTT app पर सीधे अपलोड किया जाता है, तो वही पुराने समय में डिस्ट्रीब्यूटर्स हुआ करते थे। OTT के आने के बाद से इन डिस्ट्रीब्यूटर्स की जरूरत नहीं पड़ती है। पहले जहाँ हम टीवी देखने के लिए सिनेमा हॉल में जा कर टिकट खरीदते थे वही अब हम अपने किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस पर कहीं भी अपना कंटेंट देख सकते है। OTT Platform ने टीवी देखने के पारम्पारिक तरीके में बहुत ज्यादा तब्दीली कर दी है। इसके अलावा, जब भी आप किसी वीडियो का आनंद ले रहे होते है और उस समय अगर video buffer होना शुरू ही जाये तो वीडियो देखने का पूरा मजा बेकार हो जाता है। OTT Platform में ऐसा नहीं होता है, इसमें आपको अपने content को adjust करने की सुविधा मिलती है जिस कारण आप वीडियो को बिना किसी buffering के एन्जॉय कर सकते है।

भारत में कौन-कौन से OTT Platform है – List of OTT Platform in India

यहां पर कुछ मशहूर OTT Platform की लिस्ट दी गयी है जिन्हे भारत में खूब यूज़ किया जाता है :-
  • Netflix
  • Amazon Prime Video
  • Disney+Hotstar
  • SonyLIV
  • Voot
  • Zee5
  • Viu
  • ALTBalaji

OTT Platform के फायदे – Advantages of OTT Platform

1. OTT Platform पर समय और स्थान में लचीलापन – Flexibility in time and place on OTT Platform

इसमें कोई गुंजाईश नहीं की पारम्पारिक टीवी देखने की तरीके में हमें समय और जगह में किस भी तरह का लचीलापन देखने को नहीं मिलता था, मतलब आप को अपने टीवी के सामने ही बैठ कर अपना मूवी देखना है, साथ ही आपको एक निश्चित समय पर ही वो मूवी देखने को मिलेगी। लेकिन अगर बात की जाए OTT Platform की तो इसमें आप को बहुत ही ज्यादा लचीलापन देखने को मिलता है। आपको इसमें सुविधा मिलती है की आप अपने कंटेंट को जब चाहे तब और जहाँ चाहे वहाँ, अपने फ़ोन, टेबलेट, या लैपटॉप में एन्जॉय कर सकते है। ये सुविधा आपको पारम्पारिक टीवी में देखने को नहीं मिलती वहां पर आपको ब्रॉडकास्ट के हिसाब से अपना टाइम adjust करना होता है।

2. OTT Platform पर विज्ञापन के बिना कंटेंट – Content without advertisement on OTT Platform

आज के दौर में जब सब बहुत बिजी है, और अपने कंटेंट को बिना किसी रुकावट के देखना चाहते है, उस दौर में OTT Platform ने एक बेहतरीन काम किया है। OTT Platform पर एक सुविधा मिलती है जो सबको पसंद आती है वो है बिना ads के कंटेंट को देखना। मतलब आप अपने कंटेंट को बिना ads देखे, आसानी से, और बिना किसी रुकावट के पूरा देख सकते है। वही अगर बात की जाए यूट्यूब की तो इसमें आपको वीडियो के साथ-साथ ads भी देखना होता है, (अगर आपने प्रीमियम नहीं लिया) जिस कारण बहुत लोग frustrate भी हो जाते है। लेकिन ऐसा नहीं है की आपको OTT platform पर सारे वीडियो बिना ads के ही मिलेंगे। जिस कंटेंट को देखने के लिए आपने subscription नहीं लिया वहां पर आपको ads भी देखने को मिल सकते है। लेकिन subscription लेने के बाद ads से छुटकारा मिल जाता है।

3. OTT Platform पर एक कंटेंट को बहुत बार देखने की सुविधा – Content can be viewed multiple times on OTT platform

OTT Platform पर आप अपने कंटेंट को बहुत बार देख सकते है। मतलब अगर आप चाहे तो आप, अपने कंटेंट को save कर लीजिये और समय के अभाव में थोड़ा-थोड़ा या अपने सुविधानुसार देखते जाइये। इसका फायदा खास तौर पर उन लोगो को होता है जो अपने काम में बहुत बिजी रहते है और उन्हें फिल्म देखने का बहुत कम समय मिलता है। ऐसे लोगो के लिए ये सुविधा बहुत फायदेमंद है। बात की जाए पारम्पारिक टीवी की तो उसमे आपको ब्रॉडकास्ट के समय अनुसार ही चलना होता है तभी आप किसी मूवी को एन्जॉय कर सकते है लेकिन जो लोग नौकरीपेशा है उनके लिए ऐसा संभव नहीं हो पाता की वो पूरी फिल्म एक बार में देख लें। ऐसे में OTT Platform उनके लिए एक महत्पूर्ण भूमिका निभाता है।

4. OTT Platform पर कंटेंट को download और save करने की सुविधा – Download and save content option on OTT Platform

यदि कोई कंटेंट आपको बहुत पसंद आता है, और आप उसको डाउनलोड और सेव करके रखना चाहते है, तो OTT Platform  पर आप ऐसा कर सकते है। OTT apps आपको इसकी भी सुविधा उपलब्ध करवाते है जहां आप अपने पसंद के कंटेंट को सेव करके बाद में भी कभी देख सकते है। पारम्पारिक टीवी में ये सुविधा नहीं मिलती की आप अपने मूवी को भविष्य में देखने के लिए save करके रख लें।

5. OTT Platform पर बहुत सारे कंटेंट की उपलब्धता – Availability of huge content on OTT Platform

OTT Platform का बाजार दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है, और इसपर कंटेंट की उपलब्धता भी उसी तेजी में बढ़ रही है। आज OTT Platform पर इतना सारे कंटेंट उपलब्ध है की कोई व्यक्ति अगर पूरा देखना भी चाहे तो नहीं देख सकता है, और दिन पर दिन इस संख्या में बढ़ोत्तरी ही हो रही है। OTT Platform पर हर प्रकार का कंटेंट उपलब्ध है जिसे हर वर्ग का व्यक्ति देख सकता है।

6. ओटीटी प्लेटफॉर्म फ्री ट्रायल भी प्रदान करता है – OTT Platform provides free trial as well

जब भी कोई व्यक्ति किसी OTT Platform को ज्वाइन करता है तो शुरआत में उसे कुछ समय का फ्री ट्रायल भी दिया जाता हैए ताकि वो OTT के प्रति आकर्षित हो सके। और उस OTT app का ग्राहक बन जाये। आज OTT Platform को आगे बढ़ाने में इस फ्री ट्रायल का भी बहुत योगान है।

OTT Platform के नुकसान – Disadvantages of OTT platform

1. OTT Platform का महंगा सब्सक्रिप्शन –  Expensive subscription of OTT Platform

जिस तेजी से ऑनलाइन कंटेंट देखना का क्रेज बढ़ रहा है उसी तेजी से ऑनलाइन कंटेंट बनाने का भी क्रेज बढ़ रहा है। OTT apps पर अगर आप कोई मूवी देखना चाहते है तो उसके लिए अधिकतर OTT app पैसे चार्ज करती है और अधिकतर केस में ये कहा जा सकता है की वो पारम्पारिक टीवी से अधिक चार्ज करती है। क्यूंकि OTT में आपको सुविधा बहुत अधिक मिलती है जिस कारण से कहा जा सकता है की वो अधिक पैसे लेती है। हालाँकि जो लोग OTT apps का इस्तेमाल करते है उन्हें ये सब्सक्रिप्शन लेने में कुछ खास आपत्ति नहीं होती।

2. OTT Platform पर अलग-अलग सब्सक्रिप्शन  – Multiple Content on multiple OTT Platform and multiple subscriptions

बाजार में आज के समय बहुत सारे OTT apps मौजूद है और उन सब पर अलग अलग कंटेंट आता है। लेकिन जब आप किसी एक OTT app का subscription लेते है तब आप केवल उसी का कंटेंट देख पाएंगे। दूसरे OTT apps पर आये हुए कंटेंट देखने के लिए आपको उनका भी subscription लेना होगा। अर्थात आप एक सब्सक्रिप्शन से, एक ही app के कंटेंट देख सकते है दूसरे के लिए आपको नया सब्सक्रिप्शन चाहिए। OTT platform का ये एक काफी बड़ा दोष माना जा सकता है।

3.  OTT Platform के लिए हाई स्पीड इंटरनेट – High-speed internet is required for OTT Platform

क्यूंकि OTT platform पर बहुत सारा कंटेंट उपलब्ध होता है और इसमें आपको बेहतरीन वीडियो quality दी जाती है जिस कारण से आपको इसमें कंटेंट को एन्जॉय करने के लिए high speed internet की आवश्यकता पड़ती है ताकि आप अच्छी quality की वीडियो को देख सके। इसलिए जब आप OTT Platform का इस्तेमाल करने लगते है तब आपको अच्छे इंटरनेट के साथ-साथ अच्छा खासा डाटा भी चाहिए होता है। जिसपर आपको खर्चा करना पड़ सकता है।

4. OTT Platform और अश्लीलता – OTT Platform and Obscenity

OTT Platform पर हालिया दिनों में जिस तरह के कंटेंट पब्लिश हुए है उन्हें देख कर ये साफ़ जाहिर है की ये मनोरंजन के नाम पर अश्लीलता भी परोस रहे है। OTT Platform की कुछ बड़ी खामियों में से एक है इसका अश्लीलता के प्रति झुकाव। अश्लीलता को अधिकतर फिल्मो में इसलिए उपयोग में लिया जाता है क्यूंकि इस से audience attention ज्यादा मिलता है। इस लिया OTT apps का उपयोग बड़ी ही सावधानी से करना होता है और धयान रखना होता है की बच्चे किसी भी तरह के अश्लीलता को न देख लें।

भारत में OTT Platform का भविष्य क्या है ? – What is the future of the OTT Platform in India?

1. कोरोना और लॉकडाउन ने OTT Platform को किया मजबूत – Corona and lockdown strengthen OTT Platform

जब से कोरोना आया है और उसके बाद जो लॉक डाउन का एक सिलसिला चला उसके बाद से OTT Platform का भी बिज़नेस बहुत बढ़ गया है। अब लोग सिनेमा जाकर मूवी देखने की वजाय अपने घर पर ही रहकर फिल्में देखना पसंद करते है। इस में कोई संदेह नहीं की लॉकडाउन और कोरोना के कारण उपजी समस्या ने OTT Platform को मजबूत करने, और OTT apps का बिज़नेस बढ़ाने का काम किया है। लेकिन जिस रफ़्तार से OTT Platform के प्रति लोगो की दीवानगी बढ़ रही है, use देख कर लगता है की आने वाले निकट भविष्य में टीवी का स्थान शायद ये OTT ही ले लें। ऐसा इसलिए कहा जा सकता है क्यूंकि टीवी के सितारे स्वयं OTT platform पर आकर अपना जलवा बिखेर रहे है।

2. पारंपरिक टीवी से OTT Platform की ओर शिफ्ट होते लोग – People switching from traditional TV to OTT Platform

जैसे-जैसे समय बीत रहा है लोग अपने पारम्परिक टीवी को छोड़ OTT apps की तरफ शिफ्ट हो रहे है। OTT की तरफ शिफ्ट होने का मतलब है की वो अब पुराने और पारम्परिक तरीके से टीवी देखना नहीं चाहते जो की कल्पना और वास्तविकता का कॉम्बिनेशन होता है। बल्कि वो वास्तविकता पर आधारित कहानियों को देख कर अपना मनोरंजन करना चाहते है। OTT apps की तरफ शिफ्ट होने के बड़े कारणों में एक है OTT के द्वारा दी जाने वाली तरह तरह की सुविधाएं जिन्हे पारम्पारिक टीवी से नहीं पाया जा सकता है।

3. नई फिल्में सीधे OTT Platform पर रिलीज हो रही हैं – New movies releasing directly on OTT Platform

आजकल ऐसी बहुत सारी फिल्में बन रही है जो सीधे OTT Platform पर रिलीज़ होती है। यहां पर फिल्में रिलीज़ करने का सबसे बड़ा फायदा तो ये होता है की पहले तो उनका डिस्ट्रीब्यूशन पर खर्चा बच जाता है। दूसरा उनको नये-नये युवा चेहरों को मौका देने में भी सुविधा होती है। हाल-फिलहाल में ऐसी कई फिल्में OTT apps पर रिलीज़ हुई है जिसने खूब चर्चा बटोरी और दर्शको के दिलो में एक ख़ास जगह बनायीं।

आज के समय में जहां दुनिया तेजी से बदल रही है और लोगो के काम करने के तौर तरीको में भी बहुत तेज गति से बदलाव हो रहे है। ऐसे दौर में OTT Platform का उद्भव एक बेहद ही अद्वितीय घटना की तरह है जहां पर लोगो को ऐसी सुविधाएं मिल रही है, जिनसे उनका टीवी देखने

और मनोरंजन करने के तरीके बदल गए है। लेकिन जिस प्रकार से हर सिक्के के दो पहलु होते है उसी प्रकार से OTT के भी दो पहलु है जहां एक तरफ इसके लाभ हैं वही दूसरी तरफ इसकी कुछ हानियां भी है जिनसे सबको सावधान रहना होगा। अश्लीलता इसकी सबकी बड़ी खामी में से एक है जिसपर ध्यान देने की जरूरत है। यदि इसपर ध्यान नहीं दिया जाता है तो ये समाज को गलत सन्देश देता रहेगा और इस से लोगो के व्यवहार पर असर दिखेगा जो एक समाज के लिए सही नहीं होगा क्यूंकि लोग जैसा देखेंगे वैसा ही बनेंगे और वो एक गलत समाज होगा जिसमे अश्लीलता का बिना किसी रोकटोक, सबके घर तक होम डिलीवरी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.