कहीं गलत तरीके से पानी पीकर आप अपनी सेहत तो नहीं बिगाड़ रहे ? जानिये पानी पीने का सही तरीका

मानव जीवन के अस्तित्व को बनाये रखने में जिस एक चीज़ का सबसे बड़ा योगदान है, वो है पानी। पानी हम सब के लिए बहुत महत्वपूर्ण है लेकिन दिलचस्प बात ये है की अधिकतर लोग pani kaise piye के बारे में अच्छे से नहीं जानते है, जिस कारण से वो गलत तरीके से पानी पी अपनी सेहत से खिलवाड़ करते रहते है। इस लेख में हम आपको बताएँगे की pani kaise liya jata hai ताकि आप भी paani peene ka sahi tareeka के बारे में जान कर, अपनी सेहत को बेहतर बना सके। इसके साथ ही हम आपको facts about water से भी अवगत कराएँगे। क्यूंकि अधिकतर लोग पानी से जुड़े महत्पूर्ण तथ्यों से वाकिफ नहीं हैं। पानी के बारे में जानना जरूरी इसलिए है, क्यूंकि पानी हमारे जीवन का आधार है, और यदि इसके बारे में हमारे पास पूरी जानकारी होगी, तो हम बहुत तरह की स्वस्थ्य सम्बन्धी बीमारियों से खुद को बचा सकते हैं।

इसी के साथ इस लेख में हम आपको galat tarah se paani peene se kya hota hai के बारे में भी जानकारी देंगे। मुख्य रूप से यहां पर हम how to drink water correctly, how to drink water for weight loss, how to drink water standing or sitting, how to drink water for glowing skin, के साथ ही साथ pani kaise piye, और आयुर्वेद में पानी पीने का जो तरीका बताया गया हैं, उसके बारे में भी आपको अवगत कराएँगे। अगर आप जानना चाहते हैं की paani peene ka sahi tareeka क्या हैं, तो आपको ये आर्टिकल अंत तक पढ़ना है।

जैसा की हमने बताया की अधिकतर लोग पानी को गलत तरीके से पीते हैं, और यही वजह है की उन्हें बहुत तरह की बीमारियों से गुज़ारना पड़ता हैं। अगर, आप भी गलत तरीके से पानी पी रहे हैं, तो ये वक़्त है सावधान होने का, आपका ये जानना बहुत जरूरी है paani peene ka sahi tareeka क्या है? बता दें की गलत तरीके से पानी पीने से कई तरह की बीमारियां हो सकती है जिनमे प्रमुख है, त्वचा सम्बन्धी रोग, एलर्जी, माइग्रेन, घुटने में दर्द, किडनी दिल से सम्बंधित बीमारियां आदि। हम जो भी कुछ खाते है उसको पचाने के लिए हमारे शरीर को पानी की जरूरत होती है, और साथ ही अगर शरीर को पर्याप्त मात्रा में पानी की आपूर्ति न की जाए, तो वो पोषक तत्वों को खपा नहीं पायेगा, जिस से और अन्य तरह की परेशानी हो सकती है, इसलिए शरीर में पानी की आपूर्ति सही मात्रा में होती रहे इसका ध्यान रखना बहुत आवश्यक है। इसी के साथ इस बात को भी ध्यान में रखना है की, शरीर में गलत मात्रा और तरीके से पानी की आपूर्ति न हो, ताकि बिमारियों से बचा जा सके। इस लेख में हम आपको उन 5 कारणों के बारे में बताएँगे, जो इशारा करते हैं की आप पानी को गलत तरीके से पी रहे हैं। और उसी के साथ हम आपको ये भी बताएँगे की आयुर्वेद के अनुसार paani peene ka sahi tareeka (how to drink water according to ayurveda) क्या हैं ?

5 कारण आप गलत तरीके से पानी पी रहे हैं – 5 reasons you are drinking water in the wrong way

1. ज्यादा पानी पीने की आदत The habit of drinking too much water

अधिकतर लोगो को आपने ऐसा कहते हुए सुना होगा की ‘जितना ज्यादा पानी पिएंगे उतना ज्यादा फायदा होगा’। लेकिन ये बात सत्य नहीं है, अगर आप एक लिमिट से ज्यादा पानी पीतें हैं तो ये आपको फायदा देने के बदले नुकसान पहुंचा सकता हैं। कहते हैं न ! की, अमृत भी अगर एक सीमा से ज्यादा लिया जाए तो, वो भी विष का काम करने लगता हैं, पानी पर भी ये बात सटीक बैठती हैं। इसका वैज्ञानिक कारण ये है की अगर जरूरत से ज्यादा पानी शरीर में जायेगा तो किडनी को अधिक मेहनत करनी पड़ेगी और वो पानी से nutrients को absorb करने की वजाय शरीर से nutrients को बाहर निकालने का काम करेगा। इसलिए पानी को हमेशा एक लिमिट में ही पीना चाहिए।

2. भोजन से पहले और बाद में पानी पीना Drinking water before and after a meal

एक आदात जो सब लोगो में सामान रूप से देखने को मिलती है, वो है खाना खाने के बाद या पहले पानी पीने की आदात। अर्थात अधिकतर लोग खाना खाने के बाद पानी जरूर पीते हैं। खाना खाने के बाद प्यास लगना स्वाभाविक है। लेकिन ये सवाल उठना लाजिमी है की  khana khane ke bad pani pina chahie या नहीं ? आयुर्वेद के अनुसार, खाना खाने के पहले और उसके बाद पानी नहीं पीना चाहिए। ऐसा इसलिए हैं क्यूंकि जब आप खाना खाते है तब वो खाना पेट में जाता है और पेट में होती है जठराग्नि जो खाने को पचाने का काम करती है। पेट में जैसे ही भोजन जाता है ये जठराग्नि प्रदीप्त हो जाती है और वो भोजन को पचाने का कार्य करती है। लेकिन जब आप भोजन करने से पहले या बाद में पानी पी लेते है तो ये जठराग्नि बुझ जाती है जिस से खाना सही से नहीं पचता और पेट में ही सड़ने लगता है, और यह अपच, गैस जैसी समस्या को जन्म देता है।

इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, खाना खाने के लगभग 40 मिनट पहले और खाना खाने के बाद लगभग एक घंटे तक पानी नहीं पीना चाहिए। लेकिन आप चाहे तो पानी की जगह दूध या मठा पी सकते है। आयुर्वेद के अनुसार अगर आपके खाने में दो meal शामिल है तो आप एक meal ख़त्म करने के बाद थोड़ा सा पानी पीकर दूसरा meal शुरू कर सकते हैं। मतलब अगर दो meal है तो बीच में आप थोड़ा सा पानी पी सकते हैं। लेकिन ऐसा आप केवल दो meal की स्थिति में ही कर सकते हैं। ऐसा करने पर भोजन पेट में जाकर सड़ेगा नहीं और वो शरीर में लगेगा।

3. जल्दबाज़ी में पानी पीना Drink water in a hurry

पानी को जल्दबाज़ी और हड़बड़ी में पीना भी सेहत को नुकसान पंहुचा सकता है। हमारे मुँह में लार (Saliva) बनता है, जो की alkaline यानी क्षारीय प्रकृति का होता है, और हमारे पेट में एसिड (Acid) यानी अम्ल बनता है। जब हम जल्दबाज़ी में पानी पीते है तो ये क्षारीय लार पेट में बहुत कम मात्रा में जाता है, जिस कारण से पेट में बना अम्ल बैलेंस नहीं हो पाता, और वो बीमारियों को जन्म देने लगता है। बता दें की जब क्षारीय लार पेट में निर्मित एसिड से मिलता है तो वो उसे उदासीन (Neutral) कर देता है। लेकिन जल्दबाज़ी में पानी पीने से ये क्षारीय लार पेट में कम जाता है और पेट में निर्मित अम्लता को कम नहीं कर पाता जिस कारण से बीमारिया होने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए कभी भी पानी को जल्दबाज़ी में न पिएं। हमेशा sip sip karke paani peene ke fayde को समझे और आराम-आराम से घुट-घुट करके पानी पियें। यहां पर हमने आपको benefits of drinking water sip by sip के बारे में विस्तार से बताया है।

4. बहुत अधिक ठंडा पानी पीना – Drinking chilled water

इस बात में कोई दोराय नहीं की गर्मियों में ठंडा पानी पीने से बहुत सुकून मिलता है। लेकिन क्या आप जानते है ?, की ये ठंडा पानी बहुत तरह की समस्या या कहे तो बीमारी को जन्म दे सकता है। बहुत अधिक ठंडा पानी पीना भी एक गलत आदत है। ये दर्शाता है की लोग अपनी सेहत के प्रति कितना लापरवाह हैं साथ ही वो disadvantages of drinking cold water after meal के बारे में नहीं जानते हैं। ठंडा पानी इसलिए नहीं पीना चाहिए क्यूंकि ठंडा पानी जब हमारे पेट में जाता है तब बॉडी की पूरी ऊर्जा उसको गरम करने में लग जाती है, जिस कारण से शरीर के दूसरे अंगो को प्रयाप्त मात्रा में खून और ऊर्जा नहीं मिल पाता और अगर लगातार कई दिनों तक ऐसे ही ठंडा पानी पिया जाए, तो ये भविष्य में शरीर के अंगो को अच्छे से काम करने में तकलीफ दे सकता है। इसलिए स्वस्थ्य रहने के लिए बहुत जरूरी है की ठन्डे पानी से दूरी बना के रखी जाय। आप मटके के पानी का उपयोग कर खुद को सेहतमंद बना के रख सकते हैं। अगर बात की जाये matke ka pani pine ke fayde तो इसके फायदे बहुत ज्यादा हैं। ये एक प्राकृतिक कूलर (natural cooler) का काम करने के साथ ही साथ पानी में nutrients को भी बनाये रखता है।

5. खड़े होकर पानी पीने की आदत Drinking water while standing

बहुत सारे लोगो की ये आदत होती है की वो खड़े रहकर पानी पीते है। अगर आप भी उन लोगो में से एक है जो खड़े होकर भी पानी पी लेते है तो आप इस आदात को बदल लीजिये क्यूंकि पानी पीने की ये आदत सही नहीं है। इस तरीके से पानी पीने से किडनी पानी में मौजूद अपशिष्ट पदार्थो को अच्छे से नहीं निकाल पाता है, और पानी में अशुद्धियाँ रह ही जाती है। इसलिए हमेशा पानी को बैठकर आराम-आराम से घुट-घुट करके पीना चाहिए ताकि वो पानी शरीर में लग सके।

पानी पीने का सही वक़्त क्या है ? What is the right time to drink water?

अगर बात की pani peene ka sahi samay की तो आयुर्वेद के अनुसार, सुबह उठते ही बिना ब्रश किये आपको पानी पीना चाहिए। इस से रातभर में जो आपके मुहं में लार जमा हुआ है, वो आपके पेट में जाकर पेट की अम्लता को neutralize करने का काम करेगा। इसके अलावा भी जब आपको प्यास लगे तब आप पानी पी सकते है, लेकिन बहुत अधिक मात्रा में नहीं। इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, खाना खाने के 40 मिनट पहले और खाना खाने के 1 घंटा बाद तक पानी नहीं पीना चाहिए। इससे आपकी पाचन शक्ति भी रही बनी रहती है और मोटापा होने की संभावना कम हो जाती है।

कितना पानी पीना चाहिए ? How much water should we drink?

पानी कब पीना चाहिए के बाद ये जानना जरूरी हो जाता है की daily kitna pani pina chahiye ताकि हम अपने शरीर को प्रयाप्त मात्रा में पानी की पूर्ती करते रहें। वैसे तो एक दिन में कितना पानी पीना चाहिए?, ये निर्भर करता है की कोई किस तरह का काम कर रहा है, और उसके शरीर का प्रकार, वजन, दैनिक दिनचर्या, जलवायु आदि कैसी है, लेकिन फिर भी इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार एक मोटा-मोटा अंदाजे के लिहाज से कहा जा सकता है की एक व्यक्ति को एक दिन में दो से ढाई लीटर तक पानी पीना चाहिए।

पानी कैसे पियें ? How to drink water

बहुत से लोगो को जानकारी नहीं होती की pani kaise piye इसलिए ये जानना जरूरी है की आपको हमेशा ही धीरे धीरे और घुट-घुट करके पानी को पीना है। ताकि क्षारीय लार आपके पेट में जाकर पेट में बने अम्ल को neutralize कर दे। इस तरीके से बहुत सी बिमारियों से बचा जा सकता है।

पानी का हमारे जीवन में बहुत अधिक महत्व है। हम भोजन के बिना कुछ दिन रह सकते हैं लेकिन बिना पानी के रहना बहुत कठिन है। पानी हमारे सिर्फ पीने के ही काम नहीं आता बल्कि ये हमारे दूसरे तरह के कम को भी करने में मदद करता है। पानी की इसी महत्ता के कारण पानी का संरक्षण बहुत ही आवश्यक है साथ ही पानी का उपयोग किस तरह से किया जाये ताकि वो शरीर को फायदा करे इस बात को भी समझना बहुत जरूरी है। अगर आप इस लेख में बताये गए पानी पीने के तरीको पर ध्यान देंगे तो निश्चित रूप से आपको weight और skin से सम्बंधित अन्य तरह की समस्याओं से छुटकारा पाने में मदद मिलेगी।

उम्मीद करते है, की आज के इस लेख से आपका ज्ञानवर्धन हुआ होगा। इस लेख में हमने आपको pani kaise piye in hindi (how to drink water correctly), how to drink water standing or sitting, how to drink water for weight loss, how to drink water for glowing skin के बारे में विस्तार से बताया है। इन तरीको को आपको अपनी रोजाना की दिनचर्या का हिस्सा बनाना होगा तभी आपको मनमुताबिक नतीजे मिलेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.